सपने जमीन पर
    2 days ago

    जन संवाद: प्रथम भाग

      अब तक आपने पढ़ा: मंडल जी भागलपुर से वापिस आने के बाद शोध के दौरान उपजे सपनों और संकल्पों…
    सपने जमीन पर
    3 weeks ago

    दीप यज्ञ बनाम मास कम्युनिकेशन

      अब तक आपने पढ़ा: मंडल जी दोनों विद्यार्थियों के साथ साथ भागलपुर विश्वविद्यालय आकर समाजशास्त्री भारती जी एवं अर्थशास्त्री…
    सपने जमीन पर
    August 27, 2022

    एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो

      अब तक आपने पढ़ा: मंडल जी के गांव में दो विद्यार्थी शोध के सिलसिले में आए थे। शोध ग्रंथ…
    समीक्षा
    August 19, 2022

    नमस्ते समथर की कुन्तल: स्वावलंबी स्त्री

      अपनी ग्रामीण स्त्री पात्र की सशक्त छवि को अपने रचना संसार में उकेरने वाली मैत्रेयी पुष्पा ने विज़न की…
    सपने जमीन पर
    August 17, 2022

    परिवर्तन का आगाज

      अब तक आपने पढ़ा :मंडल जी पत्रकारों के सामने अपनी जिन्दगी के पन्ने पलट रहे हैं। इसी क्रम में…
    शख्सियत
    August 11, 2022

    गोपाल सिंह नेपाली के गीतों का क्रमिक विकास

      हिन्दी के रससिद्ध कवि गोपाल सिंह नेपाली का जन्म 11 अगस्त 1911 को बेतिया, पश्चिम चम्पारन बिहार के काली…
    सपने जमीन पर
    August 4, 2022

    इंदिरा आवास योजना 

      अब तक आपने पढ़ा : मंडल जी के पास रहकर शोध कर रहे दोनों विद्यार्थी सरकारी शिक्षण संस्थान की…
    मुकुटधर पाण्डेय
    July 29, 2022

    हिन्दी में छायावाद : संक्षिप्त तुलना

      पिछले लेख से पाठक ‘छायावाद’ का स्थूल-रूप समझ गये होंगे। अब उसी के आधार पर संक्षिप्त तुलना द्वारा यह…
    सपने जमीन पर
    July 25, 2022

     मुखिया जी और जनहित योजना

         अब तक आपने पढ़ा: मंडल जी के गांव में दो विद्यार्थी शोध कार्य के लिए आये थे। उन्होंने…
    रंगमंच
    July 21, 2022

    नयी नयी-सी है पर तेरी रहगुज़र फिर भी…

      फ़िराक़ साहब ने चाहे जिस भाव व कला के लिए कहा हो – ‘हज़ार बार जमाना इधर से गुजरा…

    कथा संवेद

    • कथा-संवेद – 21

      कथा-संवेद - 21

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    • कथा संवेद – 20

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    • कथा-संवेद – 19

        इस कहानी को आप कथाकार की आवाज में नीचे दिये गये…

    पत्रिका

      July 6, 2022

      संवेद 126 : भारत एक स्वप्न

        संवेद 126 : भारत एक स्वप्न  लेखक – भरत प्रसाद भरत प्रसाद द्वारा लिखित भारत एक स्वप्न (संवेद-126) पुस्तिका…
      February 6, 2022

      संवेद 125 : शब्दों के आलोक में अनामिका

        संवेद 125 : शब्द आलोक में अनामिका संपादक : किशन कालजयी अतिथि संपादक : ऋत्विक भारतीय कहानीकार और कवयित्री…
      January 10, 2020

      संवेद 121 : लाल

        संवेद 121 : लाल : राजनीतिक परित्याग की कथा लेखिका : पल्लवी प्रसाद सम्पादक : किशन कालजयी    पल्लवी…

      फणीश्वर नाथ रेणु

      Back to top button